Connect with us

BUSINESS

व्यापारियों की एकजुटता, जेडीए फिर आया बैकफुट पर

Published

on

शहर के व्या​पारियों की एकता फिर रंग लाई। व्यापारियों की इस एकता के कारण जेडीए को बैकफुट पर आना पड़ा।

मामला जयपुर के रामनिवास बाग भूमिगत कार पार्किंग की दरों का है। हाल में यहां पार्किंग की दरें मनमाने ढंग से बढ़ा दी गई। इस बढ़ोतरी के विरोध में जयपुर शहर के व्यापारी एकजुट हो गए हैं। जयपुर व्यापार महासंघ के अध्यक्ष सुभाष गोयल के नेतृत्व में व्यापारियों का प्रतिनिधिमंडल बुधवार को जेडीए कमिश्नर वैभव गालरिया से मिला। महासंघ ने स्पष्ट कर दिया है कि अगर पार्किंग की दरें बढ़ाई जाती है तो व्यापारी खुलकर विरोध करेंगे।

हालांकि जेडीए गालरिया ने दरें वापस लेने की बात कही है। महासंघ महासचिव सुरेंद्र बज ने बताया कि जनहित में वह रामनिवास बाग भूमिगत पार्किंग का मुख्य उद्देश्य परकोटे से सटे मुख्य बाजारों में पार्किंग भार को कम करना है। इस उद्देश्य के लिए ही यह कार पार्किंग बनाई गई है इसलिए इस भूमिगत कार पार्किंग की दरों में वृद्धि अनुचित है। महासंघ के प्रतिनिधिमंडल में अध्यक्ष सुभाष गोयल, महामंत्री सुरेंद्र कुमार बज वरिष्ठ उपाध्यक्ष हरीश केडिया ,उपाध्यक्ष चंद्रकुमार रूपाणी, शंकर नानवानी ने जेडीसी के सामने अपना पक्ष रखा।

1300 से बढ़ा 4 हजार दर की तो विरोध हुआ

जयपुर व्यापार महासंघ ने मासिक पास में दो रेट 24 घंटे के 4000 रुपए व 12 घंटे के 1500 रुपए रखने का विरोध किया है। वर्तमान में मासिक पास की दर 1300 रुपए है। व्यापाारी उसे यथावत रखने की मांग कर रहे है। कुछ समय पहले भी दरें बढ़ाने का प्रयास हुआ था तब भी व्यापारियों ने एकजुटता दिखाई थी।

BUSINESS

जीएसटी के रजिस्ट्रेशन में सहायता के लिए नेशनल हैल्पलाइन 

Published

on

जयपुर। देश में शीघ्र लागू होने वाले जीएसटी (GST) के रजिस्ट्रेशन में व्यापारियों और संस्थानों को आ रही समस्याओं को दूर करने के लिए जयपुर की केडीके सॉफ्टवेयर्स (KDK-Softwares) ने बुधवार से नेशनल लेवल की नि:शुल्क हैल्पलाइन सर्विस शुरू की है। इस हैल्पलाइन (HELPLINE) का नम्बर 0141—4123455 है।
केडीके सॉफटवेयर्स के चेयरमैन कपिल गोयल ने बताया कि वैट, सर्विस टैक्स, एक्साइज ड्यूटी समेत वि​भिन्न अप्रत्यक्ष करों के लिए पंजीकृत व्यापारी एवं संस्थान अपना जीएसटी में रजिस्ट्रेशन कराने के लिए सहायता प्राप्त कर सकते है। उन्होंने बताया कि इस हैल्पलाइन पर फिलहाल 20 लाइनें उपलब्ध है। हेल्पलाइन सुबह 10 बजे से शाम सात बजे तक प्रतिदिन काम करेगी। पहले दिन इस हैल्पलाइन पर 200 से अधिक कॉल रिसीव की गई।
हैल्पलाइन शुरू करने के मौके पर मौजूद इंस्टीट्यूट चार्टड एकाउंटेट आॅफ इंडिया के रीजनल काउंसिल मैम्बर गौतम शर्मा ने इसे एक अच्छा प्रयास बताया। कपिल गोयल ने बताया कि केन्द्र सरकार ने जीएसटी के लिए रजिस्ट्रेशन का कार्यक्रम घोषित कर दिया है। इसके तहत राजस्थान, उत्तरप्रदेश, जम्मू—कश्मीर, दिल्ली, चंडीगढ, हरियाणा, पंजाब, उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश में 31 दिसम्बर 2016 तक पंजीकरण होगा। जबकि केरल, तमिलनाडू, कर्नाटक, तेलगांना और आंध्रप्रदेश में 15 जनवरी 2017 तक पंजीकरण होगा। देश में एक बार पंजीयन का पहला चरण पूरा होने के बाद केन्द्र सरकार पंजीयन की प्रक्रिया मार्च 2017 से पुन: शुरू करेगी।
पहले दिन इस हैल्पलाइन पर लोगों ने जीएसटी में रजिस्ट्रेशन करने, अकाउंट मैनेज करने, संस्थान की डिटेल तथा अन्य डाक्यूमेंट अपलोड करने, एड्रेस प्रुफ को वैरिफाई करने सहित विभिन्न जानकारियां विशेषज्ञों से प्राप्त की । गोयल ने बताया कि हैल्पलाइन की जानकारी व्यापारियों और सीए, सीएस को ईमेल,सोशल मीडिया आदि के जरिए दी जा रही है। इस मौके पर सीए ओ पी अग्रवाल, केडीके सॉफ्टवेयर्स के सीईओ मोहित भम्बानी तथा सीएफओ मनीष ओझा भी मौजूद थे।

Continue Reading

BUSINESS

बिजली की दरों में बढ़ोतरी के खिलाफ कैंडल मार्च

Published

on

जयपुर। दूसरे राज्यों की तुलना राजस्थान में बिजली की अधिक दरों के खिलाफ स्टील इकाइयों के उद्यमियों ने गुरूवार को जयपुर में कैंडल मार्च निकाला।
इस मांग को लेकर अधिकांश स्टील इकाइयां पिछले दो दिन बन्द है। राजस्थान स्टील चैम्बर के सदस्यों ने विद्युत भवन के सामने कैंडल मार्च निकाला। इसमें उद्यमी एवं कामगार शामिल हुए। राजस्थान स्टील चैम्बर के अध्यक्ष सीताराम अग्रवाल व महासचिव सुदेश शर्मा ने कहा की सरकार ने अगर हमारी मांगों पर ध्यान नहीं दिया तो जल्द ही जयपुर में एक बड़ी रैली का आयोजन किया जाएगा। जिसमे फैक्टरी में काम कर रहे कामगार और उनके परिवार भी शामिल होंगे। इन उद्यामियों ने मांगें नहीं मानें जाने पर अनिश्चित काल के लिए फैक्टरीयां बन्द करने की भी चेतावनी दी। गौतलब है की राजस्थान स्टील चेम्बर राज्य सरकार से मांग कर रही है की ओपन एक्सेस की बिजली दरों में बढ़ोतरी को वापिस लिया जाए तथा राज्य के स्टील उद्योग को स्पेशल टेरिफ पर अन्य राज्यों के अनुसार बिजली दी जाए।

Continue Reading

BUSINESS

16 दिसम्बर से बढ़ने वाली है डीजल—पेट्रोल की कीमतें!

Published

on

जयपुर। डीजल—पेट्रोल की दरों में 16 दिसम्बर से बदलाव होगा। अंतराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में बढ़ोतरी को देखते हुए देश में डीजल—पेट्रोल की कीमतों में भी बढ़ोतरी होगी।
भारत में डीजल—पेट्रोल के मूल्य की समीक्षा के लिए तेल कम्पनियों की बैठक 15 दिसम्बर को प्रस्तावित है। इस बैठक में अंतराष्ट्रीय बाजार के मद्देजनर दिसम्बर के दूसरे पखवाड़े के लिए कीमतें तय होनी है। अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम में पिछले दिनों करीब 20 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज की गई है। वर्तमान में कच्चे तेल के दाम 55 डालर प्रति बैरल है। जबकि पिछले महीने के दूसरे पखवाड़े में यह दरें करीब 45 डालर प्रति बैरल थी। ऐसे में एक से दो रूपए प्रति लीटर डीजल एवं पेट्रोल में बढ़ोतरी की संभावना है। गौरतलब है कि पिछली समीक्षा के बाद तेल कम्पनियों ने 1 दिसंबर से पेट्रोल के दाम 13 पैसे प्रति लीटर बढ़ाए गए थे, जबकि डीजल 12 पैसे प्रति लीटर सस्ता किया गया था। रूस समेत 10 गैर-ओपेक देशों के भी कच्चा तेल उत्पादन में कटौती पर सहमत होने से अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम 20 फीसदी बढ़कर 55 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच चुके हैं।

Continue Reading
Advertisement

Facebook

Trending