Connect with us

Bikaner

बीकानेर के करणी माता मंदिर को कहते है चूहों का मंदिर, नवरात्रों में लगता है मेला

Published

on

यहां 20 हजार से ज्यादा चूहे है।

करणी माता मंदिर राजस्थान के बीकानेर जिले के देशनोक में है। नवरात्र में यहां ​मेला आयोजित होता है। विश्व में यह एक अनूठा मंदिर है जहां चूहों की पूजा होती है। यहां 20 हजार से ज्यादा चूहे है।

चूहे भगवान गणेश के वाहन है। लेकिन राजस्थान के इस प्रसिद्ध मंदिर में में चूहे देवी करणी के पुत्रों के रुप में पूजते है। करणी माता को देवी दुर्गा का अवतार माना जाता है। चारण समेत कई जातियों की यह कुलदेवी है। आसोज और चैत्र नवरात्रों में यहां मेला आयोजित होता है। इसमें राजस्थान और आसपास के राज्यों से माता के भक्त आते है। करणी माता का मंदिर बीकानेर से करीब 30 किमी दूर देशनोक में स्थित है। यहां करणी माता के दो मंदिर है।

एक मंदिर देशनोक में है और दूसरा वहां से करीब 1 किमी. पर स्थित है। दोनों ही मंदिरों की मान्यता है, लेकिन चूहों का जमघट केवल देशनोक स्थित मंदिर में नजर आता हैं। यहां स्थित यह है कि कब चूहा आपके पैर पर से गुजर जाए अंदाजा नहीं लगा सकते। इसलिए यहां बड़ी सावधानी से चलना पड़ता है। पैर के नीचे चूहे का आना अशुभ माना जाता है।

करणी माता की आरती

करणी माता मंदिर में सुबह और शाम को आरती के वक्त देखने लायक दृश्य होता है। घंटे-घडियाल की आवाज सुनकर चूहे बाहर निकल आते है। कई चूहे आपको यहां झूमते भी नजर आ जाएंगे। वैसे दिनभर इनकी यहां धमाचौकड़ी जारी रहती है। यहां पर कुछ सफेद चूहे भी है जिनका दिखाई देना बहुत शुभ माना जाता है। यहां चूहों को काबा कहते है। चूहों का झूठा प्रसाद खाया भी जाता है। आश्चर्य की बात है कि यहां इतने चूहे हैं लेकिन कभी कोई बीमारी नहीं फैली। करणी माता के भक्त इसे मां का चमत्कार मानते है। चूहों का यहां दूध पिलाया जाता है। उनके प्रसाद के लिए चांदी की परात रखी हुई है।

बीकानेर और जोधपुर राज्य की स्थापना

श्रद्धालुओं का मानना है कि करणी देवी साक्षात मां जगदम्बा की अवतार थीं। जिस स्थान पर मंदिर है वहां लगभग साढ़े छह सौ वर्ष एक गुफा में करणी अपने इष्ट देव की पूजा करती थी। यह गुफा आज भी मंदिर परिसर में स्थित है। करणी माता के ज्योर्तिलीन होने पर उनकी इच्छानुसार उनकी मूर्ति की स्थापना यहां की गई। करणी माता के आशीर्वाद से ही बीकानेर और जोधपुर राज्य की स्थापना हुई थी।

करणी माता का मंदिर देशनोक रेलवे स्टेशन से चंद कदम की दूरी पर स्थित है। देशनोक स्टेशन जयपुर-बीकानेर लाइन पर स्थित है और यह स्टेशन कई शहरों से जुड़ा हुआ है। यहां बस स्टैंड भी है। इसके अतिरिक्त निजी साधन भी बीकानेर के लिए आसानी से उपलब्ध हो जाते है। देशनोक में धर्मशालाएं और होटल भी है। अपने बजट के हिसाब से इनमें आप रूम ले सकते है।

Continue Reading
Comments

Bikaner

राहुल गांधी का 10 को 15 किमी तक रोड़ शो, पांच लाख की भीड़ जुटाने का टारगेट

Published

on

कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी 10 अक्टूबर को राजस्थान में चुनावी प्रचार के लिए आएंगे। कांग्रेस उनका 15 किमी. तक का रोड़ शो आयोजित करने की तैयारी में है।

राहुल गांधी 10 अक्टूबर को बीकानेर आएंगे। इस दौरान यहां रोड शो एवं जनसभा आयोजित की जाएगी। इस जनसभा में पांच लाख लोगों की भीड़ जुटाने का टारगेट तय किया गया है। रोड़ की तैयारियां बीकानेर में चल रही है।

राजस्थान विधानसभा में प्रतिपक्ष के नेता रामेश्वर डूडी ने इन तैयारियों का जायजा लिया। उन्होंने बताया कि बीकानेर में 10 अक्टूबर को राहुल गांधी का रोड शो होगा। राहुल गांधी नाल एयरपोर्ट से बीकानेर के मेडिकल कोलेज मैदान तक 15 किमी लम्बा रोड शो करने के बाद संभाग भर से आए कांग्रेस कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों के साथ आमसभा को सम्बोधित करेंगे। इसके लिए कांग्रेस ने जन सम्पर्क अभियान शुरू कर दिया है।

Continue Reading

Bikaner

Temple Run : राहुल का तीसरा राजस्थान दौरा, 9 अक्टूबर से तीन दिन रहेंगे

Published

on

कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी नौ अक्टूबर से तीन दिवसीय राजस्थान दौरे पर आएंगे। विधानसभा चुनाव के मद्देनजर राहुल का यह तीसरा राजस्थान दौरा है।

राहुल गांधी 9 अक्टूबर से तीन दिन तक बीकानेर संभाग के दौरे पर रहेंगे। इस दौरान राहुल रोड शो और आमसभा करेंगे। करणी माता समेत विभिन्न मंदिरों के दर्शन का कार्यक्रम भी उनके दौरे का हिस्सा हो सकता है। राहुल के दौरे को लेकर कांग्रेस ने अपनी तैयारियां तेज कर दी है।

मंगलवार को इस सिलसिले में दिल्ली में एक बैठक आयोजित हुई। इस दौरान इस राहुल गांधी के दौरे को लेकर ​समेत विभिन्न चुनावी मुद्दों पर विचार विमर्श हुआ। बैठक में प्रदेश प्रभारी अविनाश पांडे, पीसीसी चीफ सचिन पायलट और सीएलपी लीडर रामेश्वर डूडी शामिल हुए।

Continue Reading
Advertisement

Facebook

Trending