Connect with us

MEDICAL

प्रसाद खाकर बीमार हो गए ये भक्त

Published

on

राजस्थान के दौसा जिले के बांदीकुई कस्बे में शनिवार को फूड प्वाइजनिंग का मामला सामने आया है।

मिली जानकारी के अनुसार, बांदीकुई में रात को भोजन प्रसादी का आयोजन था। यहां से प्रसादी लेने के कई लोगों को उल्टी दस्त हो गए। मौके पर चिकित्सा विभाग की टीम पहुंच गई है। मरीजों का इलाज शुरू कर दिया गया है। अभी तक 50 से अधिक लोगों के बीमार होने की सूचना है।

Continue Reading
Comments

MEDICAL

जानिए राष्ट्रीय डेंगू दिवस कब और क्यों मनाया जाता है

Published

on

डेंगू का डंक हर साल कई परिवार झेलते है। मच्छर जनित इस बीमारी में कई बार जान भी चली जाती है। डेंगू के इलाज के साथ—साथ सावधानी बरती जाए तो इस बीमारी की रोकथाम संभव है। डेंगू के प्रति सावधानी के लिए देश में हर साल 16 मई को राष्ट्रीय डेंगू दिवस (National Dengue Day) मनाया जाता है।

राष्ट्रीय डेंगू दिवस के अवसर के अवसर पर 16 मई को डेंगू रोग के प्रति जागरूकता लाने एवं डेंगू उन्मूलन में सहयोग हेतु प्रेरित करने के लिए विभिन्न गतिविधियां आयोजित की जाती है। राष्ट्रीय डेंगू दिवस मनाने की शुरुआत 16 मई 2016 से हुई है। निदेशक जनस्वास्थ्य डॉ. वी.के.माथुर ने बताया कि राजस्थान में सभी मेडिकल कॉलेजों से सम्बद्ध चिकित्सालयों एवं अन्य जिलो के सामान्य अस्पताल को शामिल करते हुए कुल 32 सेन्टीनल सेन्टर चिन्हित किए गए है। इसके अतिरिक्त सेन्टीनल सेन्टर जोड़ने हेतु प्रस्ताव केन्द्र सरकार को भेजा गया हैं।

डेंगू एवं चिकनगुनिया एलीसा परीक्षण हेतु राष्ट्रीय वायरोलोजी संस्थान पुणे के माध्यम से सेन्टीनल सेन्टर को विशेष जॉच किट उपलब्ध कराए जाते है। वर्तमान में राजस्थान में वर्ष 2017 में 16 मई 2017 तक 57 डेंगू के रोगी पाए गए। इस वर्ष डेंगू से कोई मृत्यु नही हुई है। यह एक सुखद संकेत है। डॉ. माथुर ने बताया कि डेंगू व चिकनगुनिया की रोकथाम के लिए 4 मई, 2017 को इन्टर सेक्टोरल कॉर्डिनेशन की बैठक आयोजित कर सभी विभागों को इन बीमारियों की रोकथाम एवं बचाव के लिए आवश्यक निर्देश दिए गए थे। राज्य स्तरीय जिलों में जिला स्तरीय कन्ट्रोल रूम भी स्थापित किए गए है।

डेंगू एडीस एजिप्टी नामक मच्छर के माध्यम से फैलता  हैं

निदेशक जनस्वास्थ्य ने बताया कि मच्छर जनित वायरल रोग डेंगू एडीस एजिप्टी (Aedes aegypti ) नामक मच्छर के माध्यम से फैलता हैं। यह मच्छर घरेलू वातावरण में एवं आस-पास इकट्ठे साफ पानी में उत्पन्न होता है। यह मच्छर दिन के समय काटता है। इस बीमारी के बचाव एवं रोकथाम के लिए राज्य सरकार ने विशेष कार्ययोजना बनाई हैं। उन्होंने घरेलू स्तर पर डेंगू से बचाव के उपायों में सहयोग आग्रह करते हुए कहा कि अपने घरो में सभी जगह पर साफ सफाई का पूर्ण ध्यान रखने के साथ ही घर के आस-पास पानी इकटठा नही होने दें एवं पुराने टायर, कबाड को छत पर इकट्ठा न करें। कूलर व घरो में प्रयुक्त पानी की टंकियो, परिण्डे की साप्ताहिक रगड़ कर सफाई करें एवं सूखा होने पर ही पुनः भरें।

Continue Reading

MEDICAL

हड़ताल नहीं कर सकेंगे एम्बुलेंस कर्मी

Published

on

जयपुर। राज्य सरकार ने एक अधिसूचना जारी कर 108 आपात कालीन सेवाओं के साथ-साथ 104 जननी एक्सप्रेस, बेस एम्बुलेंस एवं 104 टोल फ्री चिकित्सा परामर्श सेवाओं से सम्बन्धित समस्त कार्यालय एवं कर्मचारियों तथा उसके कार्यकलपों को तुरन्त प्रभाव से आगामी छह माह तक अत्यावश्यक सेवा घोषित किया है।
इन तीनों सेवाओं का संचालन सेवा प्रदात्ता कम्पनी जीवीके ईएमआईआर के माध्यम से इनिटगे्रटेड एम्बुलेंस प्रोजेक्ट के तहत किया जा रहा है। राज्य सरकार की ऎसी राय है कि 108 आपात कालीन सेवाओं के साथ-साथ 104 जननी एक्सपे्रस, बेस एम्बुलेंस एवं 104 टोल फ्री चिकित्सा परामर्श सेवाओं में हड़ताल होने से सेवाओं के प्रदाय एवं अनुरक्षण पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ेगा और उसके परिणामस्वरूप समुदाय को भारी कठिनाई का सामना करना पड़ सकता है।

Continue Reading

MEDICAL

प्रशिक्षु आईएएस अफसरों ने जयपुर फुट की जानकारी ली

Published

on

जयपुर। मसूरी स्थित लाल बहादुर शास्त्री राष्ट्रीय प्रशासनिक अकादमी में आई.ए.एस. का प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे 19 सदस्यीय दल ने बुधवार को मालवीय नगर स्थित भगवान महावीर विकलांग सहायता समिति के जयपुर फुट केन्द्र का अवलोकन किया।
इस दल में विभिन्न राज्यों के प्रशिक्षु प्रमोटी आई.ए.एस. अफसर जो असम, मेघालय, महाराष्ट्र, पश्चिम बंगाल, मध्य प्रदेश, मणीपुर, गोवा और गुजरात काडर के हैं। बी.एम.वी.एस.एस. के संस्थापक और मुख्य संरक्षक डी.आर. मेहता ने जयपुर फुट के निर्माण की जानकारी दी। दल का स्वागत सचिव डाॅ. दीपेन्द्र मेहता तथा मुख्य कार्यकारी अधिकारी एस.एस. बिस्सा ने किया। डी.आर. मेहता ने दल के सदस्यों को कहा कि आई.ए.एस. अधिकारी रहते हुए उन्हें मानव सेवा का संकल्प लेना चाहिए । उन्होंने कहा कि निर्धन तथा पीड़ित वर्ग की सेवा से उन्हें आत्म संतोष प्राप्त होगा। पूर्व आई.ए.एस. अधिकारी और बी.एम.वी.एस.एस. की कार्य समिति के सदस्य के.के. सक्सैना ने भी सम्बोधित किया । दल नायक चन्द्रकांत पुलकुन्दवार ने डी.आर. मेहता को स्मृति चिन्ह भेंट किया ।

Continue Reading
Advertisement

Facebook

Trending