Connect with us

NEWS

विधानसभा चुनाव : सरकारी कर्मचारी-अधिकारी रखे ये ध्यान, नही तो पड़ेगा भारी

Published

on

Election Commission of India's Model Code of Conduct 1

राजस्थान में विधानसभा चुनाव के दौरान आचार संहिता की पालना करवाने के लिए विशेष निगरानी दलों का गठन किया गया है। ये दल मतदाताओं को लुभाने वाली गतिविधियों पर भी पैनी नजर रखेंगे।

राजस्थान में 200 विधानसभा सीटों पर सात दिसंबर को चुनाव होंगे। इसकी घोषणा के साथ ही आदर्श आचार संहिता लागू हो गई है। मुख्य निर्वाचन अधिकारी आनंद कुमार के अनुसार, आचार संहिता की पालना के लिए 614 टीमों का गठन किया गया है। इनमें आयकर, आबकारी, नारकोटिक्स और वाणिज्यिक कर विभाग के अधिकारियों को शामिल किया गया है।

सरकारी अधिकारियों-कर्मचारियों के लिए निर्देश

उधर, जयपुर में जिला निर्वाचन अधिकारी एवं जिला कलक्टर सिद्धार्थ महाजन ने विधानसभा चुनाव की आदर्श आचार संहिता के प्रभावी होने के साथ ही भारत निर्वाचन आयोग के निर्देश तथा लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम, 1951 के तहत् राजकीय अधिकारियों-कर्मचारियों को प्रावधानों का शक्ति से पालन सुनिश्चित करने के निर्देश दिए।

महाजन ने बताया की कोई राजकीय कर्मचारी ना तो किसी प्रकार की राजनैतिक गतिविधियों जैसे रैली,सभा या चुनाव प्रचार में भाग ले सकेगा और ना ही किसी उम्मीदवार, पार्टी के चुनाव, मतदान गणना अभिकर्ता के रूप में कार्य कर सकेगा। उन्होंने सभी जिला स्तरीय अधिकारियों को अपने कार्यालय एवं विभाग में उक्त निर्देशों की पालना करने को पाबन्द किया है।

हथियार है तो करा दें तुरंत जमा

जिन लोगों के पास लाइसेंस शुदा हथियार है, उन्हें संबंधित थानों में जमा कराने होंगे। यह आदेश नेशनल राइफल एशोसियेशन के सदस्य जो प्रतियोगिता में भाग लेते हैं, कानून व्यवस्था से जुड़े राज्य सरकार के अधिकारी-कर्मचारी तथा शस्त्र अनुज्ञापत्रधारी सुरक्षाकर्मी (बैंक, जीवन बीमा निगम इत्यादि) पर लागू नहीं होगा।

शस्त्र अनुज्ञापत्रधारी चुनाव परिणाम घोषित होने के सात दिवस बाद अपना शस्त्र संबंधित थाने से प्राप्त कर सकेंगे। शस्त्र जमा नहीं कराने की स्थिति में शस्त्र अनुज्ञापत्रधारी के विरूद्ध धारा 188 भारतीय दंड संहिता एवं आम्र्स एक्ट 1959 के अन्तर्गत कार्यवाही हो सकती है।

जिला निर्वाचन अधिकारी ने संबंधित थानाधिकारी को निर्देश दिये हैं कि यदि किसी अनुज्ञाधारी को वास्तव में अपनी जान माल का खतरा है तथा वह शस्त्र जमा कराने की छूट चाहता है तो उस अनुज्ञाधारी द्वारा व्यक्त कारणों की गहनता से जांच कर अपनी स्पष्ट अनुशंषा के साथ प्रकरण स्क्रीनिंग कमेटी के समक्ष रखें।

EVENT

शबरीमाला: RSS का आरोप हिंदुओं पर ज्यादती कर रही है केरल सरकार

Published

on

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की अखिल भारतीय प्रतिनिधि सभा शुक्रवार से यहां ग्वालियर में शुरू हुई। इस प्रतिनिधि सभा में शबरीमला मंदिर मामला और परिवार व्यवस्था के संरक्षण पर पारित किए जाएंगे।

यहां केदारधाम स्थित सरस्वती शिशु मंदिर के सभागार में बैठक का शुभारंभ सरसंघचालक मोहन भागवत और सरकार्यवाह भय्याजी जोशी ने भारतमाता के चरणों में पुष्प अर्पित कर किया। बैठक के दौरान विभिन्न सत्रों में होने वाली चर्चा की पत्रकारों को जानकारी दी। सह सरकार्यवाह डॉ. मनमोहन वैद्य ने बताया कि शबरीमला देवस्थान मामला सदियों पुरानी धार्मिक परंपरा से जुड़ा है। इस मामले में सर्वोच्च न्यायालय के दखल की आड़ लेकर केरल सरकार हिन्दू श्रद्धालुओं के साथ ज्यादाती कर रही है। इस विषय पर बैठक में प्रस्ताव पारित किया जाएगा।

बैठक में वर्तमान परिस्थितियों में परिवार व्यवस्था के समक्ष चुनौतियों पर भी चर्चा होगी। संघ इस विषय में भारतीय दर्शन के अनुसार ‘मैं से हम’ तक जाने की प्रक्रिया पर समाज के बीच काम करेगा।

आरएसएस की प्रतिनिधि सभा

वैद्य ने बताया कि अखिल भारतीय प्रतिनिधि सभा की बैठक संघ कार्य के संबंध में निर्णय लेने वाली सबसे बड़ी संस्था है। इसकी बैठक वर्ष में एक बार आयोजित की जाती है। यह बैठक एक साल दक्षिण में, एक साल उत्तर में एवं तीसरे वर्ष नागपुर में होती है। जहां प्रति दो हजार स्वयंसेवकों पर एक प्रतिनिधि का चयन किया जाता है। यह बैठक संगठन कार्य के विस्तार, दृढ़ीकरण एवं विविध प्रांतों के विशेष कार्य, प्रयोग एवं अनुभव साझा करने की दृष्टि से काफी महत्वपूर्ण है। बैठक में समाज जीवन में सक्रिय 35 संगठनों के कार्यकर्ताओं द्वारा भी वृत्त रखा जाता है। इसके अलावा संघ शिक्षा वर्गों के प्रवास व प्रशिक्षण तथा अगले वर्ष की कार्ययोजना भी इस बैठक में तैयार की जाती है।

राम मंदिर मामले पर सवाल को लेकर डॉ. वैद्य ने कहा कि इस मामले में संबंधित पक्ष न्यायालय में अपनी बात रख चुके हैं। अब इसे सर्वोच्च न्यायालय को देखना है। बैठक में लोकसभा चुनाव पर चर्चा के सवाल पर उन्होंने कहा कि चुनावी राजनीति पर चर्चा नहीं होगी, लेकिन सभी लोग मतदान प्रक्रिया में भाग लें और चुनाव में 100% मतदान हो, इस के लिए स्वयंसेवक समाज में जनजागरण करेंगे।

Continue Reading

Barmer

UPDATE: तीन एक्सप्रेस ट्रेनों को लेकर रेलवे ने किया ये निर्णय

Published

on

उदयपुर-खजुराहो-उदयपुर एक्सप्रेस, भगत की कोठी (जोधपुर)-अहमदाबाद और जोधपुर-बाडमेर मालाणी एक्सप्रेस को लेकर रेलवे ने अपडेट जारी किया है।

उदयपुर-खजुराहो-उदयपुर एक्सप्रेस का नसीराबाद स्टेशन पर ठहराव दिया जा रहा है। धुंधाडा रेलवे स्टेशन पर भगत की कोठी (जोधपुर)-अहमदाबाद और जोधपुर-बाडमेर मालाणी एक्सप्रेस का ठहराव दिया गया है। उत्तर पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी अभय शर्मा के अनुसार यह ठहराव यात्रियों की सुविधा को देखते हुये दिया जा रहा है। रेलवे की यह व्यवस्था फिलहाल छह महीने के लिये प्रयोग के तौर पर है और इसे जरूरत के मुताबिक आगे बढ़ाया जा सकता है।

  1. गाडी संख्या 19666, उदयपुर-खजुराहो एक्सप्रेस जो दिनांक 25.02.19 को उदयपुर से प्रस्थान करेगी वह दिनांक 26.02.19 से नसीराबाद स्टेषन पर 03.05 बजे आगमन एवं 03.07 बजे प्रस्थान करेगी। इसी प्रकार गाडी संख्या 19665, खजुराहो-उदयपुर एक्सप्रेस जो दिनांक 25.02.19 को खजुराहो से प्रस्थान करेगी वह दिनांक 26.02.19 से नसीराबाद स्टेषन पर 01.49 बजे आगमन एवं 01.51 बजे प्रस्थान करेगी ।
  2. गाडी संख्या 14803, भगत की कोठी (जोधपुर)-अहमदाबाद एक्सप्रेस जो दिनांक 01.03.19 को भगत की कोठी से प्रस्थान करेगी वह दिनांक 01.03.19 से धुंधाडा स्टेषन पर 10.59 बजे आगमन एवं 11.00 बजे प्रस्थान करेगी। इसी प्रकार गाडी संख्या 14804, अहमदाबाद-भगत की कोठी (जोधपुर) एक्सप्रेस जो दिनांक 01.03.19 को अहमदाबाद से प्रस्थान करेगी वह दिनांक 02.03.19 से धंुधाडा स्टेषन पर
    05.32 बजे आगमन एवं 05.33 बजे प्रस्थान करेगी ।
  3. गाडी संख्या 14662, बाडमेर-जोधपुर मालाणी एक्सप्रेस दिनांक 25.02.19 से धंुधाडा स्टेषन पर 20.06 बजे आगमन एवं 20.07 बजे प्रस्थान करेगी। इसी प्रकार गाडी संख्या 14661, जोधपुर-बाडमेर मालाणी एक्सप्रेस दिनांक 26.02.19 से धुंधाडा स्टेषन पर 06.25 बजे आगमन एवं 06.27 बजे प्रस्थान करेगी।

कृपया ध्यान दें— ये सूचना रेलवे की ओर 24 फरवरी 2019 को जारी विज्ञप्ति के आधार पर ताजा जानकारी के लिये रेलवे पूछताछ से संपर्क करें।

Continue Reading

EVENT

ब्रह्मकुमारी विश्वविद्यालय की राजापार्क शाखा का कार्यक्रम संपन्न

Published

on

प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय की जयपुर स्थित शाखा राजापार्क में रविवार को आध्यात्म व्याख्यान संपन्न हुआ।

“समाज, आध्यात्मिकता और दिव्यता“ टॉपिक पर यह व्याख्यान कार्यक्रम राजापार्क में आयोजित हुआ। कार्यक्रम की मुख्य वक्ता राजयोगिनी पूनम दीदी थी। जबकि मुख्य अतिथि राजस्थान विश्वविद्यालय के सॉशियोलॉजी डिपार्टमेंट की एचओडी डॉ. मंजू कुमारी थी। विधायक वेद प्रकाश सोलंकी, रेसला के ब्लॉक अध्यक्ष प्रेसिडेंड रामजीलाल मीणा, यूथ कांग्रेस के अध्यक्ष राजपाल शर्मा, राजस्थान विवि छात्रसंघ अध्यक्ष विनोद जाखड़, कांग्रेस की उपाध्यक्ष अर्चना शर्मा तथा महासचिव हुकुम मीणा आदि मौजूद थें।

Continue Reading
Advertisement

Facebook

Trending